लखनऊ से हिंदी एवं उर्दू में एकसाथ प्रकाशित राष्ट्रीय दैनिक समाचार पत्र
ताजा समाचार
सुल्तानपुर में फ्लाईओवर का पिलर टेढा होने पर जांच के आदेश
मोदी की टिप्पणी ‘हताशा का चरम’: तृणमूल
बहराइच में पानी के लिये भटका बारहसिंघा, कुत्तों ने नोचा
मलेशिया में नजीब रजाक के घर के आसपास घेराबंदी
बस खाई में गिरी, आठ की मौत
मोदी ने कर्नाटक के लोगों से किया बड़ी संख्या में मतदान करने का आग्रह
अमेरिका ने ईरान पर लगाए नए प्रतिबंध
कांग्रेस कर्नाटक में वापसी को लेकर आशवस्त
इजरायली सैनिकों की गोलीबारी में 350 फिलीस्तीनी घायल
पृथ्वी शॉ की तकनीक सचिन जैसी: मार्क वॉ
अमेरिका की पूर्व पहली महिला बारबरा बुश का निधन
वंशवाद और जातिवाद ने किया यूपी का बंटाढार
मुठभेड़ में लश्कर का शीर्ष कमांडर वसीम शाह ढेर
बलात्कार के मामले में तरुण तेजपाल के खिलाफ आरोप तय
शकुंतला विवि में दिव्यांग छात्रों के लिए बढ़ाई गईं सुविधाएं

राज्य

डेली न्यूज़ एक्टिविस्ट

मीडिया हाउस, 16/3 'घ',
सरोजिनी नायडू मार्ग, लखनऊ - 226001
फ़ोन : 91-522-2239969 / 2238436 / 40, फैक्स : 91-522-2239967/2239968
ईमेल : dailynewsactivist@yahoo.co.in, dailynewslko@gmail.com
वेबसाइट : http://www.dnahindi.com
ई-पेपर : http://www.dailynewsactivist.com

सुल्तानपुर में फ्लाईओवर का पिलर टेढा होने पर जांच के आदेश

सुल्तानपुर में फ्लाईओवर का पिलर टेढा होने पर जांच के आदेश

सुल्तानपुर, 17 मई (वार्ता)  17 May 2018      Email  

सुल्तानपुर, 17 मई  उतर प्रदेश के वाराणसी में निर्माणाधीन फ्लाईओवर के पिलर गिरने से हुए हादसे को देखते हुए सुल्तानपुर जिलाधिकारी ने निर्माणाधीन एक फ्लाईओवर के पिलर टेढ़ा होने पर मुख्य विकास अधिकारी को जांच के आदेश दिए है तथा सेतु निगम के उप परियोजना प्रबंधक से भी जबाब तलब किया गया है। 

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार वित्तीय वर्ष 2016-17 में प्रदेश सरकार ने गोमती नदी पर सिरवारा घाट और अमिलिया कला घाट पर करीब 15-15 करोड़ रुपए की धनराशि से 181 मीटर के पांच पिलर के ब्रिज की स्वीकृति मिली है। विधानसभा 2017 के चुनाव के कारण दोनों सेतु का निर्माण कार्य रुक गया था। सूबे की सत्ता बदलने के बाद भी नदी के सेतु के लिए शासन ने स्वीकृति देकर धनराशि आवंटन की। 

राशि आवंटन होने के बाद वर्ष 2018 में कार्यदायी संस्था सेतु निगम ने नदी में कुएं खोदकर पिलर बनाने का काम शुरू किया। कुएं खोदने के बाद निर्माण शुरू होते ही पिलर टेढ़ा हो गया। सेतु निगम ने नदी पर पिलर बनाने का काम शुरू कराया था। दक्षिण दिशा की तरफ पिलर बनते ही टेढ़ा हो गया। जिसकी शिकायत जिला प्रशासन तक पहुँची तो जिलाधिकारी विवेक ने कल मामले को गम्भीरता से लेते हुए सेतु निगम के डी.पी.एम.ई. प्रशांत कुमार सिंह से जबाब तलब करते हुए जिले के मुख्य विकास अधिकारी राधेश्याम को जांच का आदेश दिया है। 


Comments

' data-width="100%">

अन्य खबरें