लखनऊ से हिंदी एवं उर्दू में एकसाथ प्रकाशित राष्ट्रीय दैनिक समाचार पत्र
ताजा समाचार
सुल्तानपुर में फ्लाईओवर का पिलर टेढा होने पर जांच के आदेश
मोदी की टिप्पणी ‘हताशा का चरम’: तृणमूल
बहराइच में पानी के लिये भटका बारहसिंघा, कुत्तों ने नोचा
मलेशिया में नजीब रजाक के घर के आसपास घेराबंदी
बस खाई में गिरी, आठ की मौत
मोदी ने कर्नाटक के लोगों से किया बड़ी संख्या में मतदान करने का आग्रह
अमेरिका ने ईरान पर लगाए नए प्रतिबंध
कांग्रेस कर्नाटक में वापसी को लेकर आशवस्त
इजरायली सैनिकों की गोलीबारी में 350 फिलीस्तीनी घायल
पृथ्वी शॉ की तकनीक सचिन जैसी: मार्क वॉ
अमेरिका की पूर्व पहली महिला बारबरा बुश का निधन
वंशवाद और जातिवाद ने किया यूपी का बंटाढार
मुठभेड़ में लश्कर का शीर्ष कमांडर वसीम शाह ढेर
बलात्कार के मामले में तरुण तेजपाल के खिलाफ आरोप तय
शकुंतला विवि में दिव्यांग छात्रों के लिए बढ़ाई गईं सुविधाएं

स्थानीय

डेली न्यूज़ एक्टिविस्ट

मीडिया हाउस, 16/3 'घ',
सरोजिनी नायडू मार्ग, लखनऊ - 226001
फ़ोन : 91-522-2239969 / 2238436 / 40, फैक्स : 91-522-2239967/2239968
ईमेल : dailynewsactivist@yahoo.co.in, dailynewslko@gmail.com
वेबसाइट : http://www.dnahindi.com
ई-पेपर : http://www.dailynewsactivist.com

हिपेटोबिबाइलरी व लिवर ट्रांसप्लांट सेंटर में बच्चे एवं बड़ों के होंगे ऑपरेशन

हिपेटोबिबाइलरी व लिवर ट्रांसप्लांट सेंटर में बच्चे एवं बड़ों के होंगे ऑपरेशन

लखनऊ (डीएनएन)।   12 Sep 2018      Email  

पीजीआई में स्थापित हिपेटोबाइलरी एंड लिवर ट्रांसप्लांट सेंटर में बच्चे एवं बड़ों के पेट से जुड़ी बीमारियों के सभी आपरेशन होंगे। इस सेंटर में गेस्ट्रो सर्जरी विभाग के सभी डॉक्टरों को आपरेशन कर सकेंगे। इस नए सेंटर में लिवर ट्रांस प्लांट के साथ ही हिपेटोबाइलरी आपरेशन होंगे। हिपेटोबाइलरी का नाम लिवर ट्रांसप्लांट के साथ जुडने से आपरेशन की सफलता की दर 70 से 80 फीसदी तक बढ़ जाएगी। शासन से 40 करोड़ का बजट मिलने से उपकरणों की खरीद फरोख्त के साथ ही सेंटर को क्रियाशील करने की कार्रवाई संस्थान प्रशासन ने शुरू कर दी है। नवम्बर तक सेंटर में मरीजों की भर्ती शुरू करने की योजना है।
संस्थान के निदेशक डॉ. राकेश कपूर का कहना है कि करीब 110 करोड़ रुपये से हिपेटोबाइलरी एंड लिवर ट्रांसप्लांट सेंटर का निर्माण हुआ है। अत्याधुनिक उपकरणों की खरीद फरोख्त के लिए सरकार ने 40 करोड़ रुपए दिए हैं। यहां पर स्टेट आफ आर्ट सुविधाएं स्थापित की जा रही है। यहां पर लिवर प्रत्यारोपण के साथ ही हिपेटोबाइलरी से जुड़े सभी आपरेशन होंगे। इसके लिए बकायदा यहां पर पांच आपरेशन थियेटर बनाए गए हैं। उनका कहना है कि लिवर प्रत्यारोपण के लिए पहले मरीज को इसके लिए तैयार करना पड़ता है। लिहाजा यहां सभी सुविधाएं मुहैया करायी जा रही हैं। ताकि इस सेंटर को जल्द से जल्द क्रियाशील किया जा सके। ताकि मरीजों की भर्ती शुरू हो सके। डॉ. कपूर बताते हैं कि गैस्ट्रो सर्जरी विभाग की पहले से संचालित ओपीडीए वार्ड और आपरेशन थियेटर में कोई छेड़छाड़ नही की गई है। सेंटर में सिर्फ लिवर ट्रांसप्लांट की ओपीडी होगी। विभाग के डॉक्टरों को पूरी आजादी है वह सेंटर की ओटी में आपरेशन करें या फिर पुरानी आपरेशन थियेटर में काम करें।


Comments

' data-width="100%">

अन्य खबरें