लखनऊ से हिंदी एवं उर्दू में एकसाथ प्रकाशित राष्ट्रीय दैनिक समाचार पत्र
ताजा समाचार
कोरोना के 2.56 लाख से अधिक नमूनों की जांच
देश में कुल 1,268 कोरोना टेस्ट लैब
रक्षा मंत्री का लद्दाख दौरा स्थगित
पुतिन 2036 तक बने रहेंगे राष्ट्रपति
श्रमिको के अधिकार रौंदने की कोशिश अनुचित:राहुल
प्रवासी मजदूरों की मौत पर मगरमच्छ के आंसू बहा रहा है केंद्र: चिदम्बरम
जापान में कोरोना संक्रमण के 14000 से अधिक मामले
कोरोना की लड़ाई में ‘सावधानी हटी दुर्घटना घटी’ : मोदी
देश में कोरोना के 768 नये मामले, 36 की मौत
नारी गरिमा और उसके सम्मान की रक्षा के लिए तीन तलाक बिल आवश्यक था
माेदी सरकार से जनता की अपेक्षायें बढ़ी: रामदेव
सुल्तानपुर में फ्लाईओवर का पिलर टेढा होने पर जांच के आदेश
मोदी की टिप्पणी ‘हताशा का चरम’: तृणमूल
बहराइच में पानी के लिये भटका बारहसिंघा, कुत्तों ने नोचा
मलेशिया में नजीब रजाक के घर के आसपास घेराबंदी

देश

डेली न्यूज़ एक्टिविस्ट

मीडिया हाउस, 16/3 'घ',
सरोजिनी नायडू मार्ग, लखनऊ - 226001
फ़ोन : 91-522-2239969 / 2238436 / 40, फैक्स : 91-522-2239967/2239968
ईमेल : dailynewsactivist@yahoo.co.in, dailynewslko@gmail.com
वेबसाइट : http://www.dnahindi.com
ई-पेपर : http://www.dailynewsactivist.com

कोरोना की लड़ाई में ‘सावधानी हटी दुर्घटना घटी’ : मोदी

कोरोना की लड़ाई में ‘सावधानी हटी दुर्घटना घटी’ : मोदी

नयी दिल्ली, 26 अप्रैल (वार्ता)  26 Apr 2020      Email  

नयी दिल्ली, 26 अप्रैल  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों से कोरोना की रोकथाम के बाद भी उसे हल्के में नहीं लेने का आग्रह करते हुए कहा है कि यह महामारी है और हमारे पूर्वजों ने कहा है कि महामारी, कर्ज तथा आग को अगर हल्के में लेकर छोड़ दें तो मौक़ा पाते ही ये सब दोबारा ख़तरनाक हो जाते हैं।

श्री मोदी ने रेडियो पर हर माह प्रसारित अपने कार्यक्रम ‘मन की बात’ में रविवार को कहा कि देश इस समय वैश्विक महामारी की चपेट में है। यह महामारी है और इसे किसी भी स्तर पर हल्के में नहीं लिया जा सकता है। इसको हराने में लापरवाही नहीं करनी है और इसको लेकर सामाजिक दूरी के पालन के अलावा जो भी नियम बनाए गये हैं, उनका हर स्तर पर पालन करना अनिवार्य है।

उन्होंने कहा “इस वैश्विक-महामारी के संकट के बीच आपके परिवार का सदस्य होने के नाते आपको कुछ संकेत करना,कुछ सुझाव देना मेरा दायित्व है। मैं आपसे, आग्रह करूँगा – हम कतई अति-आत्मविश्वास में न फंस जाएं, हम ऐसा विचार न पाल लें कि हमारे शहर में, हमारे गाँव में, हमारी गली में, हमारे दफ़्तर में कोरोना पहुंचा नहीं है, इसलिए अब पहुँचने वाला नहीं है। देखिये, ऐसी ग़लती कभी मत पालना। दुनिया का अनुभव हमें बहुत कुछ कह रहा है और इस स्थिति में हमें ‘सावधानी हटी तो दुर्घटना घटी’ वाली कहावत को याद रखना है।”

प्रधानमंत्री ने संस्कृत का एक श्लोक उद्धृत करते हुए कहा “अग्नि, व्याधि और कर्ज को हल्के नहीं लेना चाहिए क्योंकि आग, कर्ज़ और बीमारी, मौक़ा पाते ही दोबारा बढ़कर ख़तरनाक हो जाते हैं। इनका पूरी तरह उपचार बहुत आवश्यक होता है। इसलिए अति-उत्साह में, स्थानीय-स्तर पर, कहीं पर भी कोई लापरवाही नहीं होनी चाहिए। इसका हमेशा–हमेशा हमने ध्यान रखना ही होगा। और, मैं फिर एक बार कहूँगा – दो गज दूरी बनाए रखिये, खुद को स्वस्थ रखिये । दो गज दूरी, बहुत है ज़रूरी।”


Comments

' data-width="100%">

अन्य खबरें

बेरूत विस्फोट के चलते लेबनान के प्रधानमंत्री समेत सरकार का इस्तीफा
बेरूत विस्फोट के चलते लेबनान के प्रधानमंत्री समेत सरकार का इस्तीफा

एक हफ्ते पहले लेबनान की राजधानी बेरूत में हुए धमाकों ने पूरी दुनिया को हिलाकर रख दिया। इस घटना को लेकर देश में इस कदर आक

पूर्वानुमान की स्थाई प्रणाली के लिए बने केंद्रीय-राज्य एजेंसियों में बेहतर तालमेल
पूर्वानुमान की स्थाई प्रणाली के लिए बने केंद्रीय-राज्य एजेंसियों में बेहतर तालमेल

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बाढ़ समीक्षा के लिए छह राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ की बैठक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी न