लखनऊ से हिंदी एवं उर्दू में एकसाथ प्रकाशित राष्ट्रीय दैनिक समाचार पत्र
ताजा समाचार
कोरोना के 2.56 लाख से अधिक नमूनों की जांच
देश में कुल 1,268 कोरोना टेस्ट लैब
रक्षा मंत्री का लद्दाख दौरा स्थगित
पुतिन 2036 तक बने रहेंगे राष्ट्रपति
श्रमिको के अधिकार रौंदने की कोशिश अनुचित:राहुल
प्रवासी मजदूरों की मौत पर मगरमच्छ के आंसू बहा रहा है केंद्र: चिदम्बरम
जापान में कोरोना संक्रमण के 14000 से अधिक मामले
कोरोना की लड़ाई में ‘सावधानी हटी दुर्घटना घटी’ : मोदी
देश में कोरोना के 768 नये मामले, 36 की मौत
नारी गरिमा और उसके सम्मान की रक्षा के लिए तीन तलाक बिल आवश्यक था
माेदी सरकार से जनता की अपेक्षायें बढ़ी: रामदेव
सुल्तानपुर में फ्लाईओवर का पिलर टेढा होने पर जांच के आदेश
मोदी की टिप्पणी ‘हताशा का चरम’: तृणमूल
बहराइच में पानी के लिये भटका बारहसिंघा, कुत्तों ने नोचा
मलेशिया में नजीब रजाक के घर के आसपास घेराबंदी

राज्य

डेली न्यूज़ एक्टिविस्ट

मीडिया हाउस, 16/3 'घ',
सरोजिनी नायडू मार्ग, लखनऊ - 226001
फ़ोन : 91-522-2239969 / 2238436 / 40, फैक्स : 91-522-2239967/2239968
ईमेल : dailynewsactivist@yahoo.co.in, dailynewslko@gmail.com
वेबसाइट : http://www.dnahindi.com
ई-पेपर : http://www.dailynewsactivist.com

उप्र में सीएए का विरोध करने वालों पर पुलिस कार्रवाई की हो न्यायिक जांच:कांग्रेस

उप्र में सीएए का विरोध करने वालों पर पुलिस कार्रवाई की हो न्यायिक जांच:कांग्रेस

लखनऊ, 22 दिसम्बर (वार्ता)  22 Dec 2019      Email  

लखनऊ, 22 दिसम्बर  उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने नागरिक संशोधन कानून एवं नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजनशिप (एनआरसी) के खिलाफ शांतिपूवर्क विरोध प्रदर्शन करने वालों पर पुलिस द्वारा किए लाठीचार्ज की घटनाओं की न्यायिक जांच कराने की मांग की।

श्री लल्लू ने सीएए एवं एनआरसी के खिलाफ आन्दोलन करने वालों पर की गई पुलिस द्वारा कार्रवाई और राज्य की बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर राज्यपाल आनंदीबेन को पत्र भेजा है। उसके बाद आज यहां पार्टी कार्यालय में संवादाताओं से श्री लल्लू ने कहा कि संविधान बचाने के लिए जनता सड़कों पर शांतिपूर्ण तरीके से आन्दोलन कर रही है, लेकिन राज्य की भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सरकार पुलिस के जरिये आन्दोलन कर रहे लोगों का दमन कर रही है। इतना ही नहीं पुलिस राजनीति नेताओं एवं कार्यकर्ताओं पर मामले दर्ज करा रही है।

उन्होंने कहा कि हापुड़, बिजनौर, रामपुर,मेरठ,मुजफ्फनगर,फिरोजाबाद,कानपुर और लखनऊ समेत अन्य जिलों जहां पर हिंसा खबरे आई हैं,वहां पर तत्काल न्यायिक जांच होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि न्यायिक जांच इस लिए जरुरी है क्योंकि दिल्ली में जिस तरह की पुलिस की भूमिका रही है ,प्रदेश में भी हिंसा में पुलिस की भूमिका से इंकार नहीं किया जा सकता है।

इस कानून को गरीबों और वंचितों के खिलाफ होने का आरोप लगाते हुए श्री लल्लू ने कहा प्रदेश में पुलिसिया हिंसा में करीब दो दर्जन लोग मारे जा चुके हैं। इन सभी मामलों की भी न्यायिक जांच होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि पूरे सूबे में पुलिस राजनीतिक और सामाजिक कार्यकर्ताओं की गैरकानूनी तरीके से गिरफ्तारी कर रही है। उन्होंने कांग्रेस के प्रवक्ता जाफर समेत तमाम राजनीतिक कार्यकर्ताओं पर दर्ज मुकदमे वापस लेकर तत्काल रिहाई की सरकार से मांग की।

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष श्री लल्लू कहा कि नोटबंदी के बाद सीएए और एनआरसी के नाम पर सरकार फिर गरीबों को लाइन में लगाना चाहती है। यह कानून संविधान विरोधी है और किसी भी कीमत पर बाबा साहेब आम्बेडकर के संविधान के खिलाफ संधी कानून को स्वीकार नहीं किया जायेगा। उन्होंने लखनऊ घटना के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की टिप्पणी को बदला लेने एवं धमकी करार दिया। उन्होंने कहा कि प्रदेश पुलिस कानून व्यवस्था बनाने में विफल रही है।

राज्यपाल को लिखे पत्र में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने पुलिस फायरिंग में मारे गये लोगों के परिजनाें को 50 लाख और घायलों को इलाज के लिए पांच लाख रुपये की दिए जाने की मांग की। उन्होंने राज्यपाल को भेजे पत्र में मुख्य रुप से निर्दोष सामाजिक एवं राजनीति व्यक्तियों के मुकदमें वापस लिए जाने और उन्हें तत्काल रिहा किए जाने की मांग की है।


Comments

' data-width="100%">

अन्य खबरें

गंभीर चोट केवल विकलांग ही नहीं बल्कि गहरे भावनात्मक निशान भी छोड़ती है
गंभीर चोट केवल विकलांग ही नहीं बल्कि गहरे भावनात्मक निशान भी छोड़ती है

सुप्रीम कोर्ट ने सड़क दुर्घटना के पीड़ित के मामले में मुआवजा राशि में वृद्धि करते हुए कहा कि अदालत को यह ध्यान में रखना चा

प्रेम और शादी के नाम पर धर्मांतरण कराने वालों पर शिकंजे की तैयारी
प्रेम और शादी के नाम पर धर्मांतरण कराने वालों पर शिकंजे की तैयारी

प्रेम और विवाह के नाम पर धर्मांतरण के बढ़ते मामलों के मददेनजर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों से